Skip to main content

कल अप्रेल सीरीज की Nifty की एक्सपायरी कहा हो सकती है ?


25 April को Nifty future ने नीचे दिया गया रेसिस्टेंस जॉन बनाया था ।

     कल अच्छी खबर के चलते मार्केट थोड़ा उछल गया था मगर आज फिर फिसला है । इनके बाबजूद डबल बॉटम फॉर्मेशन टूटा नहीं है । ये पैटर्न और आज के डाटा देखते हुए निफ्टी की अप्रेल सीरीज की समाप्ति नीचे दिए गए जॉन में संभव है । 
  सपोर्ट जॉन 17930 to 16970 
रेसिस्टेंस जॉन 17110 to 17180 


  हमसे जुड़ने के लिए ईमेल : GujaratBull.com@gmail.com
  Desclaimer : Above post is only for educational purposes. 

  

Popular posts from this blog

RBI credit policy

 Today RBI will review credit policy . RBI’s six-member Monetary Policy Committee (MPC)   is meeting second time after demonetization .   Market is expecting  25 basis points cut in repo rate . Repo rate is short form of repurchase rate .It is also known as short term lending rate. RBI lends money to commercial bank as per this rate . Low repo rate is not only beneficiary to commercial bank but also to industry .  Commercial banks can lend money at low rate to industry if they get benefited  from RBI .       In last meeting MPC had  left repo rate unchanged to 6.25 % . The decision was taken considering some internal as well as external factors .  The  main external factors which were considered by MPC were possible rate hike by US fed and rising oil price as well as US dollar . At present US federal reserve has preferred pause for rate hike but concern of rising oil price has not gone away . Rising oil prices is a  challenge to India’s growth. Economic Survey presented in Parl

इसके बारे में बहुत कम चर्चा हुई है - Suzlon the unnoticed multibagger .

Suzlon के शेयर के बारे में मैने काफी कुछ लिखा है । मैं इसे कई सालो से ट्रैक  कर रहा हु । उन्हीं पर किए हुए कई ट्वीट आपको ट्विटर  Twitter.com/Gujaratbull पर।  मिल जाएंगे जिसमे 2016 में किया हुआ वो ट्वीट भी है जब इसी कंपनी में कुछ जान आने की संभावना दिख रही थी । वैसे आईपीओ और उसके कुछ समय के बाद सुजलॉन कई लोगो की दिलोजान थी । उसने कई लोगो को आईपीओ में मालामाल कर दिया था । एक प्रख्यात बिजनेस चैनल के पत्रकारने भी मुझे ऐसी ही कहानी बताई थी ।  उस वक्त आईपीओ के एलॉटमेंट के  बारे में भी काफी कुछ चर्चा हुई थी मगर इस वक्त वो बात नहीं छेड़नी है । अभी तो नीचे दिया गया चार्ट देखिए ।  आईपीओ के बाद भी इस शेयर का भाव डबल से ज्यादा हुआ था । 2008 में इसने 400 रूपये के ऊपर ट्रेड करना शुरू कर दिया था मगर फिर लिहमान ब्रदर वाली मंद में गिरना शुरू हुआ और फिर कभी संभला ही नही । कई लोगो को आशा थी की इसकी यूनिक प्रोड्यूस होने के  कारण ये फिर से नया हाई लगाएगा मगर ऐसा कुछ हुआ नहीं । इसके पीछे  कई कारण थे ,मुझे जो लॉजिकल लगा वो सुजलॉन द्वारा बनाई जा रही विंडमिल की ब्लेडो से जुड़ा इश्यू था